फाइनेंसिंग के लिए क्यों पर्सनल लोन है सबसे पसंदीदा विकल्प

लोगों की बदलती लाइफस्टाइल और बढ़ती महंगाई की वजह से सैलरी से अलग अतिरिक्त पैसों की हमेशा जरूरत पड़ जाती है. किसी मेडिकल इमरजेंसी/नया गैजेट खरीदने/मशीन/बच्चे की एजुकेशन/शादी या अपने करीबियों के लिए महंगा गिफ्ट खरीदने/हायर एजुकेशन और घर को रेनोवेट करने के लिए आपको फंड की जरूरत पड़ती है. लेकिन यह जरूरी नहीं कि जब भी हमें जरूरत पड़े तो हमारे पास पैसे हों. ऐसी स्थितियों के लिए पर्सनल लोन सर्वश्रेष्ठ विकल्प है, जिससे आप अपनी सारी जरूरतें पूरी कर सकते हैं.

पर्सनल लोन क्यों?

पर्सनल लोन असुरक्षित लोन होते हैं. क्योंकि इन्हें लेने के लिए आपको लोन के एवज में कोई भी चीज बतौर गारंटी नहीं रखनी पड़ती. इसका मतलब है कि अन्य लोन की तुलना में, इसमें कोई जोखिम नहीं होता क्योंकि कोई चीज गारंटी के तौर पर नहीं रखनी पड़ती.

आमतौर पर अन्य लोन में गारंटी की जरूरत पड़ती है और जोखिम भी होता है. अगर आप पुनर्भुगतान नहीं कर पाते या फिर राशि चुकाने में असमर्थ रहते हैं तो कर्जदाता को उस चीज को जब्त करने का पूरा हक है, जो आपने बतौर गारंटी रखी थी. लेकिन पर्सनल लोन में ऐसा कोई जोखिम नहीं होता. इतना ही नहीं, ग्राहकों की तुलना में कर्जदाताओं पर अधिक जोखिम रहता है.

इस पर्सनल लोन के अलावा आपकी जरूरतों को पूरा करने के लिए कई विकल्प उपलब्ध हैं, जिसमें परिवार के सदस्यों या दोस्तों से कर्ज, क्रेडिट कार्ड लोन, प्रॉपर्टी के एवज में लोन/मॉर्गेज लोन, इक्विटी लोन्स और आपकी सेविंग्स जो म्युचुअल फंड, फिक्स्ड डिपॉजिट, इंश्योरेंस या सोने के रूप में रखी हुई चीजें शामिल हैं. हालांकि पर्सनल लोन कई कारणों से इन सबसे अलग है.

ये हैं पर्सनल लोन के शानदार फीचर्स

आसानी से मिल जाता है:

अधिकतर शीर्ष बैंक पर्सनल लोन देते हैं. इस लोन को लेना काफी आसान है और इसकी ब्याज दर भी किफायती होती है. कई बैंक पूरी तरह ऑनलाइन पर्सनल लोन मुहैया करा रहे हैं, जिससे आपको कुछ ही मिनटों या घंटे में लोन की राशि मिल जाती है. इसकी प्रक्रिया पूरी तरह ऑनलाइन है, जिसमें दस्तावेज का हिस्सा भी शामिल है. आप आसानी और बिना किसी झंझट के इस लोन का लाभ उठा सकते हैं.

कोई सिक्योरिटी या गारंटी रखने की जरूरत नहीं

पर्सनल लोन के मामले में कोई सिक्योरिटी या लोन के एवज में गारंटी रखने की जरूरत नहीं होती. यह उन लोगों के लिए फायदेमंद है, जो लोन के एवज में गारंटी नहीं दे सकते. भले ही लोगों के पास गारंटी हो लेकिन फिर भी यह जोखिम भरा है. इसलिए आम लोग भी इसे ले सकते हैं क्योंकि इसमें कोई जोखिम शामिल नहीं है.

समय से पहले लोन बंद करने की सोच रहे हैं? क्या आपको ऐसा करना चाहिए?

विभिन्न मकसदों के लिए ले सकते हैं

पर्सनल लोन मल्टी पर्पज लोन है. इसे विभिन्न मकसदों के लिए लिया जा सकता है और इसके बारे में आपको बताना भी नहीं पड़ता है. इसे किसी भी पर्सनल काम जैसे बिजनेस रिफाइनेंसिंग, बच्चे की हायर एजुकेशन, पारिवारिक छुट्टी, गैजेट खरीदने और मेडिकल इमरजेंसी के लिए लिया जा सकता है. इसे इस्तेमाल करने की कोई सीमा नहीं है. इसे आप जहां चाहे और जिस तरीके से चाहे इस्तेमाल कर सकते हैं.

सीमित दस्तावेज

पर्सनल लोन में दस्तावेजों की जरूरत काफी सीमित होती है. जैसा कि ऊपर बताया गया कि इस लोन में किसी चीज की गारंटी नहीं चाहिए. लिहाजा प्रॉपर्टी से जुड़े दस्तावेजों और उनकी वेरिफिकेशन की जरूरत भी नहीं पड़ती. नतीजन, पर्सनल लोन की प्रोसेसिंग में ज्यादा वक्त नहीं लगता.

बड़ी लोन राशि

जब आप पर्सनल लोन लेते हैं तो आप बड़ी लोन राशि भी ले सकते हैं. आमतौर पर हमारे जैसे डीएसए (डायरेक्ट सेलिंग एजेंट) के जरिए आप 50 हजार से 10 लाख रुपये तक का लोन ले सकते हैं. शानदार है ना कि आपको इतनी राशि लोन के तौर पर मिल जाएगी और कोई गारंटी भी नहीं देनी होगी.

किफायती ब्याज दर

पर्सनल लोन की ब्याज दरें काफी किफायती होती हैं. हममें से कई लोग सोचते हैं कि अन्य लोन की तुलना में इसकी ब्याज दरें काफी ज्यादा होती हैं. लेकिन पर्सनल लोन ही ऐसा लोन है, जो इस्तेमाल में काफी लचीला है और इसके लिए कोई गारंटी भी नहीं चाहिए. इन सभी फैक्टर्स से बैंक के लिए जोखिम बढ़ जाता है. लिहाजा जोखिम को कम करने के लिए लगाए गए ब्याज में कुछ इजाफा हुआ है, जो काफी है.

कैसे चुनें सही पर्सनल लोन?

तुलना करने के बाद पर्सनल लोन के लिए सही कर्जदाता चुनना सबसे अहम है. यह समझना जरूरी है कि यह कैसे काम करता है जैसे विभिन्न बैंकों की ब्याज दरें, किसी तरह का लोन दिया गया है- सुरक्षित/असुरक्षित, फिक्स्ड व वैरिएबल, लाइन ऑफ क्रेडिट. आप बैंक की एप्लिकेशन चेकलिस्ट को देखकर प्रोडक्ट्स की रेटिंग्स के आधार पर तुलना कर सकते हैं.

मेट्रो शहरों में पर्सनल लोन अप्लाई करते वक्त ध्यान रखें ये 5 टिप्स

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*