जानिए ऑनलाइन पर्सनल लोन के बारे में कुछ जरूरी टिप्स

Quick Tips about Online Personal Loans

ऑनलाइन लोन्स इन दिनों फंडिंग का एक अहम विकल्प बन गए हैं. इसे लेना बहुत आसान है और आपको तुरंत फंड्स मिल जाते हैं. इस लोन में इस्तेमाल पर कोई सीमा भी तय नहीं होती. लिहाजा आपको वक्त के किसी भी मोड़ पर वित्तीय सहायता मिल जाती है.

लोग विभिन्न जरूरतों जैसे मेडिकल असिस्टेंस, हायर एजुकेशन, कर्ज चुकाने, बिजनेस, ट्रिप पर जाने या सेकंड हैंड व्हीकल खरीदने के लिए पर्सनल लोन लेते हैं.

हालांकि ये लोन काफी सुविधाओं के साथ आता है और जिंदगी में पैसों की तंगी के वक्त में लोगों की मदद करता है. लेकिन भविष्य की परेशानियों और ज्यादा अवसरों का लाभ लेने के लिए एक शख्स को लोन समझदारी से लेना चाहिए. लिहाजा हम आपको कुछ जरूरी टिप्स दे रहे हैं, जिन्हें ऑनलाइन पर्सनल लोन लेते वक्त आप जरूर फॉलो करें.

उपलब्ध डील्स की समीक्षा करे

किसी खास कर्जदाता से ऑनलाइन पर्सनल लोन लेने से पहले हमेशा उन डील्स को ध्यान से समझें जो आपके सामने उपलब्ध हैं. ऐसे कई बैंक और प्राइवेट कर्जदाता हैं, जो उसी डील को आकर्षक ऑफर्स के साथ देते हैं. बतौर ग्राहक, आपको इन सभी विकल्पों को ध्यान से देखना चाहिए. अपने लिए जरूरत और सामर्थ्य के हिसाब से सबसे सही विकल्प चुनें.

रीपेमेंट ऑप्शन्स

जब आप पर्सनल लोन के लिए अप्लाई करते हैं तो यह जानना बेहद जरूरी है कि आपके पास भुगतान के क्या विकल्प हैं. लोन की अवधि, प्री-पेमेंट, पार्ट पेमेंट और बैलेंस ट्रांसफर जैसे विकल्पों की समीक्षा करें. अगर आपका कर्जदाता आपको ये विकल्प नहीं दे रहा है तो ऐसे को खोजें जो आपको ये किफायती विकल्प मुहैया कराए.

अपनी अनुमानित ईएमआई को ईएमआई कैलकुलेटर से जानें

रीपेमेंट विकल्पों के अलावा सुनिश्चित करें कि आप अपनी जेब से ईएमआई चुका सकें. यह आपकी जेब पर भारी न पड़े. इसके लिए आप ईएमआई कैलकुलेटर का इस्तेमाल कर सकते हैं, जिससे आपको अपनी अनुमानित ईएमआई मालूम चल जाएगी. इससे आपको अपनी लोन राशि और सामर्थ्य के बारे में पता चल जाएगा.

नियम व शर्तें

लोन अग्रीमेंट में ‘I Agree’ पर साइन करने से पहले उसमें लिखे नियम व शर्तें ध्यान से पढ़ लें. यह एक शख्स का सामान्य झुकाव है, जिस कारण वह बिना पढ़े “I Agree” विकल्प को दबा देता है. जब आप ऑनलाइन लोन के लिए आवेदन करते हैं या जब आप पर्सनल लोन के लिए आवेदन करते हैं तो ऐसी आदत खतरनाक हो सकती है.

किसी शख्स को नियम और शर्तों को ठीक से समझने के साथ-साथ समकक्ष के बारे में जरूरी क्रॉस-चेक भी करना चाहिए. इसके अतिरिक्त, कर्जदाताओं द्वारा ऑफर किए गए नियम व शर्तों को लोन अप्लाई करने से पहले ठीक से देख लें.

ब्याज दरें

आमतौर पर, ऑनलाइन पर्सनल लोन की ब्याज दरें, जो बैंक, वित्तीय संस्थान लगाते हैं वे फिक्स्ड या फिर फ्लोटिंग होती है. फिक्स्ड इंट्रस्ट रेट में आमतौर पर ईएमआई ज्यादा होती है और पूरी अवधि में एक ही रहेगी. जबकि इसकी तुलना में फ्लोटिंग ब्याज दरों में ब्याज दरें कम होती हैं लेकिन मासिक किस्त बाजार के उतार-चढ़ाव पर  निर्भर करती है.

हालांकि एक्सपर्ट्स के मुताबिक, ग्राहकों को फिक्स्ड ब्याज दरों को चुनना चाहिए क्योंकि यह एक सुरक्षित विकल्प है. परिवर्तनीय ब्याज दर का विकल्प आकर्षक लग सकता है लेकिन यह जोखिम भरा है, इसलिए इस तरह के प्रस्तावों से बचना बेहतर है. अगर मार्केट रेट ऊपर जाते हैं तो ब्याज दर भी ज्यादा लगेगी.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*