40 की उम्र के बाद होम लोन के लिए कर रहे हैं अप्लाई तो इन बातों का रखें ध्यान

एक दशक पहले नौकरीपेशा लोग घर खरीदने के लिए अपने रिटायरमेंट का इंतजार करते थे, ताकि रिटायरमेंट के बाद मिले पैसे से वे ये काम कर सकें. अब वक्त बदल गया है. नौकरी करते हुए अगर किसी शख्स को 2 साल हो चुके हैं तो वह होम लोन लेने लायक हो जाता है. होम लोन के जरिए, युवा लोगों के लिए भी होम लोन लेना आसान हो गया है.

अगर आप अपने करियर की शुरुआत में ही होम लोन खरीदते हैं तो आपको कई फायदे मिलते हैं. लेकिन अगर आप 40 साल के हो चुके हैं तो इन बातों को ध्यान में रखना जरूरी है.

अवधि कम रखें

होम लोन की अधिकतम अवधि 30 साल है. लेकिन अगर आप 40 साल के हो चुके हैं तो आप 30 साल की अवधि के लिए होम लोन ले सकते हैं. इसका कारण यह है कि ग्राहक की 60 साल की उम्र तक होम लोन चल नहीं सकता. इसलिए अगर आप 40 साल की उम्र में होम लोन के लिए अप्लाई कर रहे हैं तो अधिकतम लोन अवधि 20 साल की होगी. होम लोन लेने से पहले होम लोन ईएमआई जरूर चेक कर लें. हालांकि, पर्सनल फाइनेंस के एक्सपर्ट्स सलाह देते हैं कि अवधि को 20 साल से कम रखें ताकि ब्याज भुगतान पर बचत कर सकें.

ज्यादा डाउन पेमेंट दें

अगर किसी शख्स की उम्र 40 बरस है तो उसके पास अच्छी सेविंग्स होगी. अगर ऐसा है तो आप सेविंग्स से ज्यादा होम लोन डाउन पेमेंट दे सकते हैं. आप अपने इमरजेंसी फंड को साइड में रखने के बाद जो बचे उस राशि का इस्तेमाल होम लोन डाउन पेमेंट में किया जा सकता है. ज्यादा डाउन पेमेंट देने से आप पर लोन का बोझ कम पड़ेगा. इसके अतिरिक्त, ज्यादा होम लोन चुकाने से ब्याज भी कम हो जाएगा.

पार्ट पेमेंट करें

होम लोन का पार्ट पेमेंट करना भी समझदारी भरा कदम है. अगर रिटायरमेंट की उम्र तक पहुंचने से पहले ही आपका होम लोन पूरा हो जाए तो बोझ खत्म हो जाएगा. इसके अलावा, बढ़ती उम्र के साथ आप और आपकी पत्नी की सेहत भी खराब होगी. मौजूदा समय में मेडिकल का खर्चा बहुत ज्यादा है. अगर किसी शख्स को होम लोन पुनर्भुगतान के साथ-साथ मेडिकल का भी खर्चा उठाना पड़े तो उसके लिए यह वित्तीय भार जैसा है. इसलिए इन सब बातों को ध्यान में रखते हुए अवधि से पहले ही लोन खत्म कर देना समझदारी है.

जॉइंट होम लोन चुनें

जॉइंट होम लोन हमेशा ग्राहक के लिए फायदा लेकर आता है. अगर पत्नी भी नौकरी करती है तो आपकी लोन एलिजिबिलिटी बढ़ जाएगी और दोनों के बीच कर्ज का भार भी बंट जाएगा. 40 साल से कम उम्र के सह-आवेदक को जोड़ने का अतिरिक्त फायदा है कि आपकी लोन एलिजिबिलिटी बढ़ेगी और लंबी अवधि मिलेगी. इन सब फायदों के बीच, दोनों आवेदकों को टैक्स में छूट भी मिलेगी.

सही कर्जदाता चुनें

होम लोन को फायदेमंद बनाने के लिए आपको सही कर्जदाता भी ढूंढना है. सही कर्जदाता मिलने से लोन चुकाते वक्त आपको काफी फर्क नजर आएगा. होम लोन पुनर्भुगतान न्यूनतम 10 साल चलता है. अगर आप कर्जदाता की सुविधा से खुश नहीं हैं तो पुनर्भुगतान की अवधि में आपको बहुत मुश्किलें होंगी. लोन अग्रीमेंट साइन करने से पहले, आपको कर्जदाता द्वारा भविष्य में लगाए जाने वाले सभी नियम व शर्तें, फीस व शुल्क मालूम होने चाहिए.

लोन इंश्योरेंस का विकल्प चुनें

40 साल की उम्र में होम लोन लेते वक्त आपके लिए लोन इंश्योरेंस बेहद जरूरी है. आप किसी निश्चित अवधि जैसे एक या दो साल या पूरी अवधि के लिए लोन इंश्योरेंस ले सकते हैं. मौत या अक्षमता की स्थिति में लोन इंश्योरेंस आपके होम लोन को सुरक्षित रखता है. ज्यादा फायदों के लिए आप होम लोन इंश्योरेंस की जगह टर्म इंश्योरेंस का विकल्प भी चुन सकते हैं. कोई शख्स 60 साल की उम्र पर पहुंचने से पहले होम लोन ले सकता है. लेकिन 30 साल की उम्र में होम लोन लेना बेस्ट माना गया है. लेकिन अगर आपने यह चांस मिस कर दिया है तो चिंता की बात नहीं है. आप 40 साल की उम्र में भी होम लोन लेकर इसके सभी फायदे उठा सकते हैं. लेकिन अगर आप होम लोन के लिए अप्लाई करते वक्त कुछ स्मार्ट स्टेप्स लेंगे तो 40 साल की उम्र में भी अच्छा घर खरीद पाएंगे, जो आप 30 साल की उम्र में खरीद सकते थे.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*