होम लोन को एक बैंक से दूसरे बैंक ट्रांसफर करने से पहले याद रखें ये बातें

Home Loan Transfer

हर किसी का खुद का घर लेने का सपना होता है. कई लोग इसे जरूरत के तौर पर लेते हैं, कुछ लग्जरी और कुछ भविष्य सुरक्षा के लिए. आज के वक्त में अच्छा घर मिलना मुश्किल नहीं है क्योंकि हाउसिंग प्रोजेक्ट हर जगह मौजूद हैं. वहीं खुद का घर लेने का सपना देख रहे लोगों के लिए होम लोन राहत की सांस लेकर आया है.

एक बार होम लोन लेने के बाद आपको कई वर्षों तक कर्ज का भुगतान ब्याज सहित करना पड़ता है. ज्यादा ब्याज वाले लोन को मैनेज करने का एक तरीका किसी अन्य कर्जदाता/वित्तीय संस्थान के पास कम ब्याज दरों में लोन ट्रांसफर कराना है. इस प्रक्रिया को बेहतर शब्दों में होम लोन बैलेंस ट्रांसफर भी कहते हैं.

लेकिन एक बैंक से दूसरे बैंक में होम लोन बैलेंस ट्रांसफर करने से पहले इन बातों का रखें ध्यान:

कुल आउटफ्लो की तुलना करें: अगर कोई अन्य कर्जदाता कम ईएमआई की पेशकश कर रहा है और आपके लोन चुकौती की समयावधि बढ़ रही है, तो आपको यह बात मालूम होनी चाहिए कि यह वो कुल बढ़ी हुई राशि है, जिसका आपको बकाया लोन राशि पर ब्याज की दर में लगातार इजाफे के कारण आखिर में भुगतान करना चाहिए.

अगर नए वित्तीय संस्थान की तुलना में मौजूदा किस्त ज्यादा है तो आपको दोनों स्विच करने से पहले ही दोनों कर्जदाताओं के पूरे आउटफ्लो की समीक्षा करें. जब तक आप ज्यादा ईएमआई भुगतान करने के मुद्दे से न जूझ रहे हों, तब तक सिर्फ कम ब्याज दर के लिए ही आपको होम लोन ट्रांसफर नहीं करना चाहिए.

नियम व शर्तों पर ध्यान दें

दूसरे बैंक या एनबीएफसी में शिफ्ट करते हुए, यह जरूरी है कि आप नए व पुराने नियम व शर्तें ध्यान से पढ़ें. यह मुमकिन है कि कई कर्जदाताओं के किसी विशेष कंपनी से बीमा खरीद जैसे नियम हो सकते हैं. इसलिए दस्तावेज पर दस्तखत करने से पहले सारी जानकारी हासिल कर लें.

होम लोन ट्रांसफर के शुल्कों को समझें

खासतौर पर होम लोन के साथ आपको मालूम होना चाहिए कि होम लोन स्विच कुछ खास शुल्कों के साथ आते हैं जैसे स्टैंप ड्यूटी, प्रोसेसिंग फीस, लीगल चार्जेज, वैल्यूएशन फीस, टेक्निकल चार्जेज इत्यादि. इन सब पॉइंट्स पर विचार करें और उसके बाद सोचें कि क्या नए कर्जदाता का ऑफर बेहतर है या नहीं.

सही वक्त पर स्विच करें

आपकी किस्त का ढांचा इस तरह से बनाया गया है कि पहले आप ब्याज चुकाते हैं और उसके बाद मूल राशि. अगर आप लोन की अवधि की शुरुआत में ही ट्रांसफर करने की सोचते हैं तो आपको ब्याज के तौर पर ज्यादा राशि चुकानी पड़ेगी. वहीं अगर आप अवधि के आखिर में शिफ्ट करते हैं तो आपको मूल राशि में ज्यादा पैसा देना होगा. अगर नए कर्जदाता की ब्याज दरें आकर्षक हैं तो आपको शुरुआती अवधि में ही ट्रांसफर के अधिकतम फायदे मिलेंगे. सही वक्त पर स्विच करने से आपका काफी पैसा भी बचेगा.

मोलभाव करना न भूलें

जब आप अन्य बैंक में होम लोन ट्रांसफर की इच्छा जाहिर करते हैं तो आपका मौजूदा कर्जदाता आपसे मोलभाव के बारे में कहेगा. यही सही वक्त है. उन्हें मौजूदा नियम व शर्तों से नाराजगी के कारण के बारे में बताएं. ऐसा भी हो सकता है कि वे  आपको कम ब्याज दरें ऑफर कर दें और आपको बीच में ही स्विच न करना पड़े.

अपनी योग्यता जांचें

ग्राहक को कम से कम 12 किस्तें भुगतान करना जरूरी है या फिर बेहतर क्रेडिट रेटिंग भी आपको होम लोन ट्रांसफर की प्रक्रिया के फायदे दिलाने में मदद कर सकती है. कर्ज देने वाला संस्थान बैलेंस ट्रांसफर की योग्यता के लिए न्यूनतम होम लोन राशि का सुझाव दे सकती है.

होम लोन ट्रांसफर के लिए जरूरी दस्तावेज

विभिन्न दस्तावेज जैसे बैंक स्टेटमेंट, फोटोग्राफ, आईडी कार्ड, अड्रेस प्रूफ फोटोकॉपी, कर्ज देने वाले संस्थान से अपडेटेड आउटस्टैंडिंग बैलेंस, सभी दस्तावेजों की फोटोकॉपी और उनके पास मौजूद संपत्ति दस्तावेजों की सूची के अलावा वर्तमान वित्तीय संस्थान के लेटरहेड पर पत्र.

होम लोन ट्रांसफर की प्रक्रिया में कितना वक्त लगेगा?

आमतौर पर बैलेंस ट्रांसफर की प्रक्रिया में 15-20 दिनों का वक्त लगता है. लेकिन अगर आप बेस रेट को एमसीएलआर में शिफ्ट कर रहे हैं तो उसी बैंक में लगने वाला समय कम होगा.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*