क्विक बिजनेस लोन: उसी दिन कैश पाने के लिए 5 सर्वश्रेष्ठ लोन

कई बार ऐसे खर्चे आ जाते हैं जो इंतजार नहीं कर सकते, खासकर तब जब आपका व्यापार छोटा हो. चाहे आपको मशीनरी खरीदनी हो या स्टाफ को तनख्वाह देनी हो, हर कदम पर पैसों की जरूरत पड़ती है. ऐसे वक्त में, आपको अपनी आपातकालीन जरूरतों को पूरा करने के लिए तुरंत कैश की जरूरत पड़ती है.

बाजार में विभिन्न कर्जदाताओं के आने से अब कुछ ही दिनों में बिजनेस लोन मिलना आसान हो गया है. सिर्फ आपको एप्लिकेशन फॉर्म भरना है और अपनी योग्यता साबित करनी है. ये सब होने के बाद अगर आपका लोन अप्रूव हो जाता है तो आपको तुरंत बैंक खाते में पैसे पहुंच जाएंगे. अपनी सहूलियत के हिसाब से 12 से 24 महीने के बीच में आप पुनर्भुगतान अवधि चुन सकते हैं.

छोटे व्यवसायों के लिए सबसे अच्छी शर्त ये है कि कई तरह के बिजनेस लोन के लिए वैकल्पिक कर्जदाताओं से संपर्क करना है, जिसमें मशीनरी लोन से लेकर कैपिटल बिजनेस लोन शामिल हैं. हालांकि मार्केट में कई तरह के लोन उपलब्ध होने के कारण बिजनेस मालिक कन्फ्यूज भी हो सकते हैं. किसी खास लोन को चुनने से पहले अपनी जरूरत के बारे में पता करें और फिर कोई समझदारी भरा फैसला लें.

आइए आपको बताते हैं कि छोटे बिजनेस के लिए कितने प्रकार के बिजनेस लोन हैं.

मशीनरी लोन

बिजनेस में मशीनरी लोन कई मायनों में उपयोगी है. जब आप कोई बिजनेस चलाते हैं तो आपको कई जरूरतों को पूरा करना पड़ता है. अपने प्रॉडक्ट्स की मांग को पूरा करने के लिए अपने रोजमर्रा के मैन्युफैक्चरिंग टारगेट्स को पूरा करना जरूरी है. उस कारण से, आपको अपनी सभी मशीनों और उपकरण को अपडेट रखना होगा. ऐसा भी वक्त होता है, जब आप वित्तीय संकट का सामना कर सकते हैं और नई मशीनरी को अपग्रेड करने के लिए आपके पास पैसे नहीं होते, तब मशीनरी लोन आपको बचाता है.

अगर आपको डिमांड पूरी करने या उपकरणों को अपग्रेड करने की जरूरत पड़ती है तो मशीनरी लोन काम आता है. मशीनरी लोन विभिन्न बैंकों, एनबीएफसी और कर्ज देने वाले अन्य संस्थानों से लिया जा सकता है. एक छोटे मैन्युफैक्चरर के लिए ऐसी स्थिति में मशीनरी लोन लेना इतना आसान है.

वर्किंग कैपिटल लोन

कम अवधि के लिए पैसे जुटाने के लिए वर्किंग कैपिटल लोन सर्वश्रेष्ठ तरीका है. मौजूदा संपत्ति और देयता के बीच फर्क को वर्किंग कैपिटल कहा जाता है. छोटे बिजनेस को हर रोज चलाने के लिए पैसों की जरूरत पड़ती है. यह संपत्ति या लंबी अवधि के निवेश के लिए इस्तेमाल नहीं किया जा सकता. इसे कंपनी की छोटी अवधि की जरूरतों को पूरा करने के लिए यूज किया जाता है. ऐसा तुरंत लोन ऐसे लोगों के लिए फायदेमंद है, जिन्हें राजस्व में उतार-चढ़ाव का अनुभव है.

टर्म लोन

अगर आपको उपकरण खरीदने हैं या ऑफिस को रेनोवेट कराना है या इसी तरह की कोई इन्वेस्टमेंट करनी है तो टर्म लोन श्रेष्ठ विकल्प है. ये लोन बैंक, क्रेडिट यूनियन और ऑनलाइन कर्जदाता मुहैया कराते हैं. ऑनलाइन कर्जदाता के पास जाना लंबी अवधि के लिए अच्छा विकल्प है क्योंकि वे तेज और आसान ऋण मुहैया कराते हैं. साथ ही उनकी फ्लेक्सिबल एलिजिबिलिटी कंडीशन्स भी होती हैं. इसके अलावा आप अपनी सहूलियतों के हिसाब से 12-24 महीनों में लोन वापस चुका सकते हैं.

बिना गारंटी वाला लोन

असुरक्षित बिजनेस लोन या कोलेटरल फ्री (बिना गारंटी वाला) लोन छोटे व्यापारों में इस्तेमाल होते हैं क्योंकि इसमें ग्राहक को लोन लेने के एवज में कोई भी चीज गिरवी नहीं रखनी पड़ती. वित्तीय सहायता और जरूरतों को पूरा करने के लिए छोटे बिजनेस इस लोन के लिए अप्लाई कर सकते हैं. असुरक्षित बिजनेस लोन विभिन्न कामों के लिए लिया जाता है, जिसमें रोजमर्रा की संचालन लागत और कैश फ्लो, मशीनों और इन्वेंट्री की खरीद और बिजनेस विस्तार में सहायता शामिल होते हैं.

कैपिटल लोन्स

अपना बिजनेस स्थापित करने के बाद आप उसे बढ़ाने के बारे में सोच सकते हैं. इसके लिए फंड की जरूरत होगी और कंपनी की बिल्डिंग पर अपना पैसा लगाने के बाद आपके पास बहुत कम पैसा बचेगा. ऐसी स्थिति में आप वित्तीय जरूरतों को पूरा करने और बिजनेस बढ़ाने के लिए कैपिटल लोन ले सकते हैं. ऐसे लोन आमतौर पर लंबी अवधि के लिए लिए जाते हैं. लेकिन इसके पुनर्भुगतान की अवधि हर कर्जदाता की अलग-अलग होती है.

एनबीएफसी बिजनेस लोन लेने के लिए, कर्जदाता आपसे लोन एप्लिकेशन फॉर्म भरने और दस्तावेज मुहैया कराने को कहेगा. दस्तावेज में आपको ये दिखाने होंगे:

– पैन और आधार कार्ड
– पर्सनल एंड बैकग्राउंड फाइनेंशियल स्टेमेंट्स
– पीएनएल स्टेटमेंट
– बिजनेस सर्टिफिकेट एंड लाइसेंस
– पिछली लोन एप्लिकेशन हिस्ट्री
– इनकम टैक्स रिटर्न्स
– बैंक स्टेटमेंट

बिजनेस लोन के लिए क्या योग्यता है?

हर कर्जदाता यह सुनिश्चित कर लेना चाहता है कि जो पैसा वो ग्राहक को दे रहा है, वो उसे समय पर ब्याज के साथ वापस लौटाएगा. इसलिए योग्यता के ऐसे कई पैमाने हैं, जिनके जरिए कर्ज देने वाला ग्राहक की एलिजिबिलिटी मालूम करता है.

क्या है एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया:

– पिछले साल का आईटीआर 1.5 लाख रुपये से ज्यादा हो.
– या तो घर या फिर बिजनेस परिसर बिजनेस मालिक के नाम पर हो.
– पिछले साल का टर्नओवर 10 लाख रुपये से ज्यादा हो.
– घर और बिजनेस ऑफिस अलग-अलग हों.

क्या किसी अन्य कर्जदार से तुरंत लोन मिलना आसान है?

अन्य कर्जदारों का शुक्रिया अदा करना चाहिए क्योंकि लोन मिलने की प्रक्रिया आसान और बिना झंझट वाली है. आपको केवल इन चीजों को फॉलो करना है.

1. जरूरत कितनी है: सबसे पहले अपनी जरूरत पहचानें और फिर अमाउंट तय करें. यह बहुत जरूरी है क्योंकि आपकी लोन राशि सीधे आपके वित्त पर असर डालेगी, जिसका मतलब है कि अगर राशि आपकी जरूरत से ज्यादा है तो आपको ज्यादा ब्याज चुकाना पड़ेगा.

2. अपनी योग्यता जांचें: आप कर्जदाता की वेबसाइट पर जाकर अपनी योग्यता जांच सकते हैं. ध्यान रहे कि आप उतनी ही राशि के लिए अप्लाई करें, जो आपकी योग्यता के हिसाब से कम हो और इससे लोन अप्रूव होने के चांस भी बढ़ जाएंगे.

3. एप्लिकेशन फॉर्म भरें: बिजनेस लोन के लिए अप्लाई करने के लिए ऑनलाइन आवेदन करें. इसके लिए आपको कर्जदाता के मांगे हुए दस्तावेज पीडीएफ या सॉफ्ट कॉपीज के रूप में अपलोड करने होंगे.

4. एप्लिकेशन की प्रोसेसिंग: दस्तावेजों के साथ एप्लिकेशन फॉर्म भेजने के बाद कर्जदाता अपने नियम व शर्तों के हिसाब से जानकारी वेरिफाई करेगा. इसी दौरान वे आपकी एप्लिकेशन मंजूर या नामंजूर करते हैं.

5. लोन का वितरण: आपकी एप्लिकेशन अप्रूव होने के बाद, कुछ ही दिनों राशि अकाउंट में आ जाएगी.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*