क्विक बिजनेस लोन: छोट व्यवसायों के लिए ये हैं बेस्ट इंस्टेंट लोन

चूंकि बिजनेस लोन एक तरह की फाइनेंसिंग होती है. यह आपको बिजनेस के विस्तार के दौरान वित्तीय जरूरतें पूरी करने में मदद करता है. अगर आप अपने बिजनेस को और फैलाने, उपकरण खरीदने, प्रोडक्शन बढ़ाने के लिए फंड चाहते हैं तो कई कर्जदाता इंस्टेंट बिजनेस लोन पर विभिन्न डील्स दे रहे हैं. जब बात महत्वाकांक्षी होने और विकास के लिए परिवर्तनों का फायदा उठाने के लिए पैसे की लगातार खोज की आती है तो बिजनेस की प्रकृति और उसका आकार मायने नहीं रखता.

छोटे बिजनेस लोन की भूमिका

– कर्जदाताओं या एनबीएफसी द्वारा विभिन्न मकसदों के लिए छोटे व्यवसायों को दिए जाने वाले लोन को छोटे व्यापार ऋण कहा जाता है. इस तरह के लोन में कम से कम प्रतिबंधात्मक जरूरतें होती हैं, जिससे छोटे व्यवसायों को पैसे सुरक्षित करने की इजाजत मिलती है. यह कर्ज लेने वालों को बढ़ावा भी देता है, जो आपके बिजनेस के लिए खर्च कम कर सकता है.

– ये लोन आपके बिजनेस को फायदा और कॉम्पिटिशन के साथ नई ऊंचाइयों तक पहुंचने में आपकी फर्म की मदद के लिए तैयार किए गए हैं. ब्याज दरों को लुभाने के लिए पैसे जुटाएं, किसी भी संपत्ति को बचे बिना पूंजी उधार लें और वो क्रेडिट हासिल करें जिसे आप एक निश्चित अवधि में चुका सकें. क्विक बिजनेस लोन के लिए अप्लाई करने से पहले आपको तुरंत फंड तक पहुंच, कम पेपरवर्क, फ्लेक्सिबल रीपेमेंट टर्म्स और कम ब्याज दरों को देखना होगा. हर व्यापार अलग होता है, लोन के लिए उसकी प्रकृति, नियम व शर्तें अलग होती हैं.

क्या होता है असुरक्षित बिजनेस लोन?

असुरक्षित बिजनेस लोन वह होता है, जिसके लिए आपको बतौर सिक्योरिटी कोई संपत्ति या चीज नहीं रखनी पड़ती. ऐसे लोन के जरिए आप अपनी कोई खास चीज बतौर सिक्योरिटी रखने से बच जाते हैं. ज्यादातर बिजनेस मालिकों के पास उतनी संपत्ति नहीं होती कि वह कोई चीज सिक्योरिटी के तौर पर रख सकें. वे कोई भी चीज रखने से कतराते भी हैं. इसलिए कर्जदाता और एनबीएफसी असुरक्षित लोन मुहैया कराते हैं. अगर आपको बाजार में परफेक्ट असुरक्षित बिजनेस लोन मिल जाते हैं तो आप बिना किसी परेशानी के अपना मकसद पूरा कर सकते हैं.

असुरक्षित बिजनेस लोन से फाइनेंस करें अपना प्रोजेक्ट

– चूंकि असुरक्षित बिजनेस लोन के लिए कोई चीज बतौर सिक्योरिटी रखनी नहीं पड़ती इसलिए ग्राहक के लिए यह लोन पूरी तरह रिस्क फ्री होता है. ये लोन ग्राहक की क्रेडिट हिस्ट्री और लोन चुकाने की क्षमता पर निर्भर करता है. अगर आपका क्रेडिट रिकॉर्ड अच्छा है तो बिजनेस लोन आसान नियम व शर्तों पर मिल जाता है.

– इसके अलावा, इस तरह के लोन के जरिए आप अपने बिजनेस को डेवेलप या किसी वित्तीय परेशानी को सॉल्व कर सकते हैं. एनबीएफसी या किसी खास कर्जदाता के पास लोन अप्लाई करने से पहले हर फैक्टर पर ध्यान दें. अगर सही से इस्तेमाल किया जाए तो इस तरह के इन्वेस्टमेंट कंपनी की वित्तीय स्थिति को सुधार सकते हैं.

बेहतर बिजनेस लोन ढूंढें

छोटा बिजनेस लोन हासिल करना छोटे व्यवसायों के लिए मुश्किल होता है, क्योंकि ज्यादातर उधारदाताओं के मानक काफी ऊंचे होते हैं. लेकिन फंड के बाहर भी किसी बिजनेस को डिवेलप करने या नियमित खर्चों को कवर करने की जरूरत होती है. भले ही छोटे बिजनेस लोन को खोजना, अप्लाई करना और अप्रूव होना आसान नहीं है. आप जितने ज्यादा तैयार होंगे, रिजल्ट उतना ही बेहतर होगा.

बिजनेस लोन अप्लाई करने से पहले इन बातों को ध्यान रखें

– लोन अप्लाई करने से पहले ये बात ध्यान में रखें कि आपको पैसा क्यों चाहिए और यह आपके बिजनेस को कैसे फायदा पहुंचाएगा. यह सबसे पहला सवाल होता है, जो एक कर्जदाता ग्राहक से पूछता है. इसलिए सही प्लान और जवाब के साथ तैयार रहें.

– आपको सिर्फ बेस्ट लोन ही नहीं ढूंढना है. आपको सर्वश्रेष्ठ कर्जदाता की भी तलाश करनी है. हर बिजनेस लोन के दाम और शर्तों के उपलब्ध विकल्पों को कंपेयर जरूर करें. आप ऐसे शख्स के साथ बिल्कुल जुड़ना नहीं चाहेंगे, जो आपकी जरूरतों को नहीं समझता.

– सही लोन चुनना बहुत ज्यादा जरूरी है. अपने बिजनेस की जरूरतों को हिसाब से ही लोन चुनें. अगर आपके वित्तीय पहलू ही स्पष्ट नहीं हैं तो ऐसे लोन लेने का कोई फायदा नहीं है.

बिजनेस लोन की योग्यता
-छोटा बिजनेस लोन लेने के लिए आपकी उम्र 22-25 साल के बीच होनी चाहिए.
-आपके बिजनेस को कम से कम दो साल का वक्त हो चुका हो और न्यूनयम टर्नओवर 1.5 लाख रुपये हो.
-आपने पिछले 24 महीने के वित्तीय विवरणों को ऑडिट कराया हो.
-आपके पास पिछले दो वर्ष के बिजनेस के इनकम टैक्स रिटर्न्स हों.

बिजनेस लोन लेने के फायदे

– कर्जदाता लोन तुरंत  देते हैं ताकि फंड की कमी की वजह से आपके बिजनेस से जुड़े काम रुक न जाएं.

– इसके कई और फायदे भी हैं. वहीं, बिजनेस लोन लेने का फायदा यह भी है कि आपको बहुत कागजी कार्यवाही नहीं करनी पड़ती. इसके अलावा, कई कर्ज बिना किसी गारंटी या गारंटर के विस्तार से वर्किंग कैपिटल के लिए मिलते हैं.

– चूंकि एनबीएफसी और विभिन्न कर्जदाताओं के बीच प्रतिस्पर्धा है, लिहाजा बिजनेस लोन पर ब्याज दरें काफी किफायती होती हैं. अब आप पर्याप्त रीपेमेंट फैक्टर्स के बारे में सोचे बिना बिजनेस लोन ले सकते हैं. हालांकि ब्याज दर हर कर्जदाता की अलग-अलग होंगी, यह ग्राहक की विश्वसनीयता, अवधि और बिजनेस लोन की जरूरत पर निर्भर करता है.

– आपको अपने लोन की अवधि चुनने का विकल्प भी दिया जाता है. अगर आप वर्किंग कैपिटल की जरूरतों को पूरा करने के लिए बिजनेस लोन लेना चाहते हैं तो एक साल के लिए ले सकते हैं. इसके अलावा, आप लोन के जरिए अपने बिजनेस का विस्तार करने के लिए उसे 2 साल तक बढ़वा सकते हैं. इसे लचीली अवधि कहा जाता है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*