मशीनरी लोन्स: बिजनेस को ऊंचाइयों पर पहुंचाने के अलग तरीके

Machinery Loans: Offbeat Ways For Business Growth

बिजनेस के पैर जमाने के लिए काफी फंड्स और संसाधनों की जरूरत होती है. प्रतियोगिता में बने रहने के लिए कारोबारी कड़ी मेहनत करते हैं. इसी दौरान, छोटे एवं मध्यम कारोबारियों (SME) के लिए तुरंत फंड जुटाना बेहद मुश्किल हो जाता है और वे अंत में लोन लेते हैं. बाजार में ऐसे कई प्रकार के लोन हैं, जो कारोबारी अपना बिजनेस बेहतर करने के लिए ले सकते हैं. इस कारोबारी दुनिया में व्यापारी मशीनरी लोन्स पर काफी हद तक निर्भर हैं. आइए विस्तार से मशीनरी लोन्स पर चर्चा करते हैं.

क्या होता है मशीनरी लोन्स: मैन्युफैक्चरिंग कंपनी में मशीनें व उपकरण बेहद अहम हिस्सा होते हैं. बिजनेस की कुल उत्पादकता के लिए मुख्य रूप से ये जिम्मेदार होते हैं. मशीनें किस तरह से काम करती हैं, बिजनेस की ग्रोथ आंशिक रूप से उस पर भी निर्भर करती है. लेकिन मुख्य समस्या तब खड़ी होती है, जब बात मशीनों की लागत की आती है. मशीनें व उपकरण बेहद महंगे होते हैं और आपको उन्हें खरीदने के लिए काफी बड़ी पूंजी की जरूरत होती है. स्टार्टअप्स से लेकर छोटे व मध्यम व्यापार तक, शुरुआत में फंड की व्यवस्था करना थोड़ा मुश्किल हो जाता है. इस मामले में, एक बिजनेस लोन जरूरतें पूरी करने और व्यापार के विस्तार में अहम भूमिका अदा करता है. इन्हीं में से एक है मशीनरी लोन. अगर बिजनेस के लिए आप मशीनें लेना चाहते हैं तो ये लोन सर्वश्रेष्ठ है. आपको नजदीकी बैंकों या एनबीएफसी से किसी भी वक्त लोन मिल जाएगा.

आपको क्यों चाहिए मशीनरी लोन?

मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों को होती है मशीनों की जरूरत: सबसे पहला कारण है मैन्युफैक्चरिंग कंपनियां. आप इस तथ्य को झुठला नहीं सकते कि हर मैन्युफैक्चरिंग कंपनी को बड़ी मशीनें काम करने के लिए चाहिए होती हैं. चाहे वह कृषि हो, ट्रांसपोर्ट हो या फिर एग्रीकल्चर बिजनेस, आपको फंड्स के साथ हर वक्त तैयार रहना है क्योंकि आप परिस्थितियों के बारे में नहीं जानते. ऐसी स्थितियों में जब आपके पास कोई विकल्प न बचे तो मशीनरी लोन आपके लिए वरदान साबित हो सकता है. बिजनेस को आगे बढ़ाने में इसकी भी अहम भूमिका होती है. मशीनें तेजी से काम करती हैं और ज्यादा से ज्यादा कमाई कराती हैं.

जब व्यापार का नया अवसर दरवाजा खटखटाए: बिजनेस में नए अवसर मिलने की उम्मीद हमेशा रहती है. इसका मतलब है कि आपको इसके लिए ऑडर्स समय पर पूरे करने होंगे. इसके लिए आपको मशीनों की जरूरत पड़ेगी. इसलिए इस मामले में मशीनरी लोन से आप नई मशीनें और उपकरण ले सकते हैं.

मशीनों की रिपेयरिंग

जब कोई मशीन जरूरत से ज्यादा इस्तेमाल होती है तो नुकसान होना आम बात है. मशीनें कई बार धीमे भी काम करती हैं और समय-समय पर उनकी जांच होती रहनी चाहिए. उन्हें भी बेहतर काम करने के लिए सही देखभाल की जरूरत होती है. इससे बिजनेस की उत्पादकता प्रभावित हो सकती है. इसलिए अगर कोई नुकसान हुआ है तो आपको उसे तुरंत ठीक कराना चाहिए क्योंकि यह आपके बिजनेस की ग्रोथ में रोड़ा बन सकता है. लेकिन मशीनों के पार्ट्स की रिपेयरिंग का काम काफी खर्चीला होता है. ऐसे समय पर ही काम आता है मशीनरी लोन. जब आपके पास ये विकल्प है तो अपनी सेविंग्स और आय को क्यों खर्च करना? तुरंत लोन हासिल करके आप इन समस्याओं को दूर करके बिक्री को बढ़ा सकते हैं.

मशीनों पर बड़ा डिस्काउंट

अगर आप मशीनों को डिस्काउंट दरों पर खरीदने के बारे में सोच रहे हैं तो मशीन लोन काफी काम आएगा. मशीनें महंगी होती हैं और आप उन्हें अपनी इनकम या सेविंग्स से नहीं खरीद पाएंगे. ऐसे मामलों में मशीन लोन्स काफी लाभकारी हैं और आप आसानी से इसे ले सकते हैं.

मशीन लोन्स के बारे में हर पहलू पर हम बात कर चुके हैं. अब बात आती है कि आप इसे कहां से ले सकते हैं? ऐसे कई बैंक और वित्तीय संस्थान हैं जैसे एनबीएफसी, जो छोटे व मध्यम कारोबारों व व्यापारियों को मशीनरी लोन मुहैया कराते हैं.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*