आधार कार्ड से भी हासिल कर सकते हैं बिजनेस लोन? जानिए कैसे

भारत सरकार ने साल 2010 में देश के नागरिकों को सरकारी और निजी सेक्टरों में विभिन्न सुविधाओं का फायदा देने के लिए आधार कार्ड लॉन्च किया था. आधार कार्ड 12 डिजिट वाला नंबर है, जिसे सरकार ने नागरिकों को मुहैया कराया है. इसके लिए आंखों की पुतलियों के स्कैन और फिंगरप्रिंट्स भी लिए गए हैं.

आधार कार्ड आज सिर्फ पहचान पत्र की तरह काम नहीं कर रहा है बल्कि बैंक अकाउंट खोलना, पैन कार्ड बनवाना, सिम कार्ड खरीदना, इनकम टैक्स रिटर्न्स भरना, पासपोर्ट बनवाना और लोन लेने में भी मदद कर रहा है.

जी हां आपने सही पढ़ा. अब आप आधार कार्ड पर इंस्टेंट लोन भी ले सकते हैं. इस आर्टिकल में हम यही बात करेंगे. लेकिन उससे पहले आइए बताते हैं कि आधार कार्ड के उद्देश्य क्या हैं.

आधार कार्ड के लक्ष्य:

1. देश के सभी नागरिकों को एक पहचान मुहैया कराना.

2. पहचान, अड्रेस और उम्र के लिए एक कार्ड. ताकि लोगों को विभिन्न दस्तावेज लेकर न चलना पड़े.

3. किसी दलाल या बिचौलिए के बिना लोग सरकार की योजनाओं का लाभ ले पाएं.

आधार कार्ड लोन योजना:

कोई भी शख्स जिसे किसी वित्तीय सेवा का लाभ उठाना है, जैसे बिजनेस लोन, उसे अपना केवाईसी (नो योर कस्टमर) दस्तावेज जमा कराना होता है. सरकार ने बैंकों से कहा है कि ग्राहकों से केवाईसी लेना अनिवार्य है. यह कदम मनी लॉन्ड्रिंग को रोकने के लिए उठाया गया है. इससे पहले केवाईसी के लिए कई दस्तावेज चाहिए होते थे. लेकिन इन दिनों एक केवाईसी पूरा करना बेहद आसान है.

चूंकि आधार कार्ड में सभी लोगों का बायोमीट्रिक डेटा होता है. इससे प्रक्रिया तेज और रुकावटें दूर हो गई हैं. इसके अलावा वित्तीय संस्थानों ने ई-केवाईसी शुरू कर दी है, जिससे केवाईसी की प्रक्रिया डिजिटली पूरी हो जाती है.

व्यापारी बिजनेस लोन व्यापार की जरूरतों को पूरा करने के लिए लेते हैं. लिहाजा, वेरिफिकेशन प्रोसेस को तेज होने की जरूरत है ताकि लोन की राशि तेजी से अकाउंट में आ सके.

अब चूंकि केवाईसी वेरिफिकेशन डिजिटली हो रही है, आधार और पैन कार्ड पर इंस्टेंट बिजनेस लोन मुमकिन है. आधार डेटाबेस में ग्राहक की निजी जानकारियां उपलब्ध हैं. इसलिए प्रोसेसिंग और लोन अप्रूव होने में लगने वाला समय घट गया है.

जब बात बिजनेस लोन की आती है तो प्राइवेट और सरकारी बैंकों में वेरिफिकेशन प्रोसेस की प्रक्रिया काफी सख्त है. वे व्यापारियों से बिजनेस लोन के लिए दस्तावेजों की लंबी सूची मांगते हैं और लोन एप्लिकेशन अप्रूव होने में लगने वाला समय बहुत लंबा होता है. हालांकि एनबीएफसी और ऑनलाइन कर्ज देने वाले आधार कार्ड लोन के लिए कम दस्तावेज मांगते हैं.

लोन के लिए आधार कार्ड के फायदे:

1. इसके जरिए आसानी से बिजनेस लोन और अन्य सुविधाएं मिलती हैं क्योंकि कर्जदाता को केवाईसी दस्तावेज चाहिए होते हैं. आधार कार्ड पहचान साबित करने का आसान तरीका है.

2. आधार कार्ड ऑन-इन-वन प्रूफ है जैसे नाम, उम्र, पता और पहचान का.

3. इसका इस्तेमाल ई-केवाईसी (ऑनलाइन वेरिफिकेशन) के लिए भी किया जा सकता है.

आधार कार्ड पर इंस्टेंट लोन के लिए ये दस्तावेज जरूर रख लें:

आधार बिजनेस लोन इन दस्तावेजों को जमा करने के बाद मिल सकता है.

– आधार कार्ड और पैन कार्ड पहचान के लिए.
– आधार कार्ड, बिजली का बिल इत्यादि पते के रूप में.
– इनकम टैक्स रिटर्न
– बैंक स्टेटमेंट
– लोन एप्लिकेशन फॉर्म
– फोटोग्राफ

Leave a Comment